आईओबी का पहली तिमाही में शुद्ध मुनाफा 20 फीसदी बढ़कर 392 करोड़ रुपये रहा


डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

भाषा | Updated: Aug 6, 2022, 8:12 PM

नयी दिल्ली, छह अगस्त (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में शुद्ध मुनाफा 20 फीसदी बढ़कर 392 करोड़ रुपये हो गया। फंसे कर्ज में कमी आने से बैंक का मुनाफा बढ़ा है। बैंक ने शनिवार को शेयर बाजारों को बताया कि एक साल पहले की अप्रैल-जून तिमाही में बैंक को 327 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में बैंक की कुल आय घटकर 5,028 करोड़ रुपये रह गई जो पिछले वर्ष समान तिमाही में 5,607 करोड़ रुपये थी। उसका परिचालन से लाभ भी पिछले

 

नयी दिल्ली, छह अगस्त (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में शुद्ध मुनाफा 20 फीसदी बढ़कर 392 करोड़ रुपये हो गया। फंसे कर्ज में कमी आने से बैंक का मुनाफा बढ़ा है।

बैंक ने शनिवार को शेयर बाजारों को बताया कि एक साल पहले की अप्रैल-जून तिमाही में बैंक को 327 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।

वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में बैंक की कुल आय घटकर 5,028 करोड़ रुपये रह गई जो पिछले वर्ष समान तिमाही में 5,607 करोड़ रुपये थी। उसका परिचालन से लाभ भी पिछले वर्ष के 1,202 करोड़ रुपये से घटकर 1,026 करोड़ रुपये हो गया है।

हालांकि बैंक की ब्याज से प्राप्त आय बढ़कर 4,435 करोड़ रुपये हो गई जो पिछले वर्ष समान तिमाही में 4,063 करोड़ रुपये थी। शुद्ध ब्याज मार्जिन बढ़कर 2.53 फीसदी हो गया। पिछले वर्ष समान अवधि में यह 2.34 फीसदी था।

बैंक की गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) का अनुपात पिछले वर्ष के 11.48 फीसदी से घटकर 9.03 फीसदी रह गया है। इसी तरह शुद्ध एनपीए भी 3.15 से घटकर 2.43 फीसदी हो गया है। इसती वजह से फंसे कर्ज के लिए प्रावधान भी 1,010.15 करोड़ रुपये से घटाकर 132.73 करोड़ रुपये रहा।

फंसे कर्ज के लिए वित्तीय प्रावधान की जरूरत कम पड़ने से बैंक के शुद्ध लाभ में वृद्धि हुई है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.