Bonds VS FD Return: यहां मिल रहा है एफडी से भी ज्यादा रिटर्न, वो भी सरकारी गारंटी के साथ, जानिए कितना होगा फायदा


Authored by Edited by अनुज मौर्या | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: Jul 11, 2022, 3:20 PM

Bonds VS FD Return: ब्याज से लगातार इनकम पाने के लिए सीनियर सिटीजन एफडी के बजाय बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं। एफडी की तुलना में कॉरपोरेट बॉन्ड और सरकारी सिक्योरिटीज बेहतर रिटर्न देने वाले विकल्प हैं। सरकारी सिक्योरिटीज पैसों की पूरी सुरक्षा की गारंटी देती हैं, वह भी बेहतर रिटर्न दे रही हैं।

 

हाइलाइट्स

  • ब्याज से लगातार इनकम पाने के लिए सीनियर सिटीजन एफडी के बजाय बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं
  • एफडी की तुलना में कॉरपोरेट बॉन्ड और सरकारी सिक्योरिटीज बेहतर रिटर्न देने वाले विकल्प हैं
  • सरकारी सिक्योरिटीज पैसों की पूरी सुरक्षा की गारंटी देती हैं, वह भी बेहतर रिटर्न दे रही हैं
मुंबई: जब कभी पैसे निवेश करने की बात आती है तो अधिकतर वरिष्ठ नागरिक एफडी (Bonds VS FD Return) का रुख करते हैं। ब्याज से लगातार इनकम पाने के लिए सीनियर सिटीजन एफडी के बजाय बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं, जिससे उन्हें अधिक फायदा होगा। बैंकों में बहुत सारा पैसा आ चुका है, इसलिए एफडी रेट नहीं बढ़ा पा रहे हैं। वहीं बॉन्ड पर मिलने वाला रिटर्न बाजार पर आधारित है, इसलिए बेहतर रिटर्न देता है। जैसे 7 साल के टैक्स फ्री बॉन्ड ने 8 फीसदी रिटर्न दिया है, जबकि बड़े बैंकों में यह रिटर्न 6.5 फीसदी तक ही रहा है। आज का दौर पहले से बहुत अलग है, जब बैंक एफडी पर अधिक रिटर्न मिला करता था।

हाल ही में महंगाई को मात देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। इसके बाद तमाम बैंकों ने अपने लेंडिंग रेट्स बढ़ाए हैं, लेकिन एफडी रेट्स के मामले में ऐसा कुछ नहीं देखने को मिल रहा है। ऐसे में एफडी की तुलना में कॉरपोरेट बॉन्ड और सरकारी सिक्योरिटीज बेहतर रिटर्न देने वाले विकल्प हैं और सुरक्षित भी हैं। यहां तक कि जो सरकारी सिक्योरिटीज पैसों की पूरी सुरक्षा की गारंटी देती हैं, वह भी बेहतर रिटर्न दे रही हैं।

वरिष्ठ नागरिकों को उच्च लेवल की सुरक्षा और अच्छे रिटर्न की जरूरत होती है, जो सरकारी सिक्योरिटीज से मिल सकती है। सरकारी सिक्योरिटीज में तगड़ी लिक्विडिटी का फायदा भी मिलता है। भारतीय रिजर्व बैंक अपने रिटेल डायरेक्ट प्लेटफॉर्म के जरिए और अधिक निवेशकों को सरकारी सिक्योरिटीज मार्केट में लाने की कोशिशें कर रहा है। यहां तक कि किसी आपात स्थिति में सरकारी सिक्योरिटीज को लोन लेने के लिए गारंटी के तौर पर भी आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

Investment Tips: रोज बचाए गए 100 रुपये बन जाएंगे 20 लाख, यहां जानिए तरीका

एक उदाहरण से समझते हैं। मान लीजिए 2051 और 2061 में मेच्योर होने वाली सरकारी सिक्योरिटीज 7.55 फीसदी की दर पर उपलब्ध है। इसका मतलब है कि जो लोग इनमें निवेश करेंगे उन्हें 29 साल और 39 साल के लिए 7.55 फीसदी का ब्याज मिलेगा। कोई भी बैंक इतनी लंबी अवधि के लिए एफडी ऑफर नहीं करता है। इसके अलावा कुछ कॉरपोरेट बॉन्ड 9.5 फीसदी तक का ब्याज ऑफर कर रहे हैं, लेकिन उनकी अवधि काफी कम होती है।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : bonds beat fd return in rising rates regime, know how much income you can get by this
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.