Cyrus Mistry News: दुनिया की सबसे जानलेवा सड़कों के ल‍िए बदनाम है भारत, साइरस म‍िस्‍त्री हादसे से ये 3 सबक लेने चाह‍िए


नई दिल्‍ली: सड़क हादसे में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री (Cyrus Mistry) की मौत ने रोड सेफ्टी (Road Safety) पर बहस छेड़ दी है। इसने भारतीय सड़कों (Indian Roads) की दुर्दशा पर चिंता को दोबारा उजागर क‍िया है। व‍िश्‍व बैंक (World Bank) इन सड़कों को दुनिया की सबसे जानलेवा करार दे चुका है। मिस्‍त्री का रविवार को अहमदाबाद और मुंबई के बीच कार दुर्घटना में निधन हो गया था। वह 54 साल के थे। ब्रिज पर उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई थी। जिस मर्सिडीज में वह सवार थे, उसके पीछे के एयरबैग इनफ्लेट नहीं हुए थे। साइरस मिस्‍त्री ने पीछे बैठे हुए सीट बेल्‍ट भी नहीं लगा रखी थी। बेशक, भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा रोड नेटवर्क बना लिया है। लेकिन, इसके रखरखाव पर बहुत ध्‍यान नहीं दिया जाता है। कंस्‍ट्रक्‍शन में धांधली पर भी सवाल खड़े होते हैं। भारत ने 58.9 लाख क‍िलोमीटर का रोड नेटवर्क बना लिया है। यह दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा सड़कों का जाल है। कोरोना की महामारी से पहले तक भारत में हर चार म‍िनट में एक जानलेवा सड़क हादसा होता था। दुनिया में जितने सड़क हादसे होते हैं, उनमें यह 11 फीसदी है। यह भी सच है क‍ि व‍िश्‍व के कुल वीकल मार्केट में भारत की हिस्‍सेदारी सिर्फ 1 फीसदी है। सरकार ने एक दिन में 38 किलोमीटर सड़क निर्माण का विश्‍व रिकॉर्ड बनाया था। इसके बाद सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने रोजाना 100 किलोमीटर से ज्‍यादा के सड़क निर्माण का महत्‍वाकांक्षी लक्ष्‍य रखा था। सरकार ने रोड सेक्‍टर में 100 फीसदी विदेशी निवेश के लिए भी रास्‍ता खोल दिया है। यह और बात है कि बड़े कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍टों के लिए जमीन के अधिग्रहण की चुनौतियां पेश आती रही हैं। इसके अलावा टोल चार्जेज को लेकर लोगों के गुस्‍से का सामना करना पड़ा है।

मिस्‍त्री के एक्‍सीडेंट पर अब भी कई तरह की डिटेल्‍स सामने आ रही हैं। लेकिन, इसने सड़कों की दुर्दशा पर फोकस दोबारा शिफ्ट कर दिया है। देश की दो-तिहाई से ज्‍यादा वस्‍तुएं इन सड़कों से ही एक जगह से दूसरी जगह ट्रकों के जरिये पहुंचती हैं। इन सड़कों के महत्‍व को बताने के लिए यह आंकड़ा काफी है।

एक र‍िपोर्ट के मुताबिक, 2020 में भारत में 36 लाख सड़क हादसे हुए। इनमें 13 लाख लोगों की मौत हुई। हाल के कुछ सालों में सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई थी। लेकिन, 2021 में दोबारा ये बढ़नी शुरू हुई हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्‍यूरो का आंकड़ा दिखाता है कि राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर सबसे ज्‍यादा ऐसे हादसे हुए हैं।

बरसात के बाद सड़कें अक्‍सर खराब हो जाती हैं। इनके मरम्‍मत पर खास तवज्‍जो नहीं दी जाती है। यह पब्लिक ट्रांसपोर्ट को भी बाधित करता है। यह हाल मुंबई, दिल्‍ली और चेन्‍नई सब जगह एक जैसा है। कई जगह बाढ़ के कारण सड़कें और रेल नेटवर्क और एयरपोर्ट सबकुछ बंद हो जाते हैं। सोमवार को ही बेंगलुरु में भारी बारिश के बाद सड़कें जलमग्‍न हो गई थीं। जब इन सड़कों से पानी गुजर जाता है तो अक्‍सर गड्ढे बन जाते हैं। इन गड्ढों को भरने के लिए उतनी तत्‍परता के साथ कदम नहीं उठाए जाते हैं।

क्‍या हैं वो 3 सबक?
रविवार को जिस तरह के सड़क हादसे में साइरस मिस्‍त्री की जान गई, उससे 3 सबक लिए जा सकते हैं।
1. सड़कों खासतौर से हाईवेज का डिजाइन एक जैसा होना चाहिए
2. हाईवे पर सही तरह से सिग्‍नेजेस लगाए जाने चाहिए
3. कार में पीछे बैठे लोगों को भी सीट बेल्‍ट पहनने के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए।

पुलिस की शुरुआती जांच में पता लगा है कि जब मर्सिडीज कार डिवाइडर से टकराई तब साइरस मिस्‍त्री ने सीट बेल्‍ट नहीं पहन रखी थी। वह कार में पीछे की सीट पर बैठे हुए थे। उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। इसने भारत में सीटबेल्‍ट को लेकर कानूनों पर बहस छेड़ दी है। यह कार हादसा रविवार को दोपहर करीब 2.21 बजे हुआ था। तब जिस कार में साइरस मिस्‍त्री सवार थे, वह ब्रिज पर डिवाइडर से टकरा गई थी। हादसा मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर हुआ था। इसमें मिस्‍त्री के साथ उनकी दोस्‍त जहांगीर पंडोल की भी मौत हो गई थी।

दिल्‍ली में वो 10 जगह जहां एक्‍सीडेंट होने की आशंका सबसे ज्‍यादा
यहां हम राजधानी में उन 10 जगहों के बारे में भी बताते हैं जहां एक्‍सीडेंट होने की आशंका सबसे ज्‍यादा रहती है।
1. सिग्‍नेचर ब्रिज के पास आउटर रिंग रोड और वजीराबाद रोड इंटरसेक्‍शन
2. मुकरबा चौक
3. निरंकारी चौक
4. सीलमपुर चौक
5. पीरागढ़ी चौक
6. आजादपुर चौक
7. मधुबनी चौक के पास आउटर रिंग रोड के सामने रोहिणी कोर्ट
8. डाबरी क्रॉसिंग
9. ग्रैंड ट्रंक रोड का इंटरसेक्‍शन
10. मेन लिबासपुर रोड और पंजाबी बाग चौक



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.