Gautam Adani news: अंबानी के बाद टाटा से भी आगे निकला अडानी ग्रुप, हर महीने 56,700 करोड़ रुपये की कमाई


नई दिल्ली: गौतम अडानी (Gautam Adani) की अगुवाई वाला अडानी ग्रुप (Adani Group) देश का सबसे वैल्यूएबल बिजनस ग्रुप (most valuable business group) बन गया है। इस ग्रुप का मार्केट कैप 20.74 लाख करोड़ रुपये यानी करीब 260 अरब डॉलर पहुंच गया है। अडानी ग्रुप ने 154 साल पुराने टाटा ग्रुप (Tata Group) को पछाड़कर यह मुकाम हासिल किया है। शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 20.7 लाख करोड़ रुपये था। मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की अगुवाई वाले रिलायंस ग्रुप (Reliance Group) का मार्केट कैप 17.1 लाख करोड़ रुपये है। पिछले कुछ साल में अडानी ग्रुप का मार्केट कैप रॉकेट की स्पीड से बढ़ा है। इसके साथ ही गौतम अडानी भी ऐमजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस (Jeff Bezos) को पछाड़कर दुनिया के दूसरे सबसे बड़े रईस बन गए हैं। उनसे आगे अब केवल टेस्ला (Tesla) के एलन मस्क (Elon Musk) रह गए हैं।

तीन साल से भी कम समय में अडानी ग्रुप की सात लिस्टेड कंपनियों ने निवेशकों की वेल्थ में 18.7 लाख करोड़ रुपये यानी करीब 234 अरब डॉलर का इजाफा किया है। 2019 के अंत में इन कंपनियों का कुल मार्केट कैप दो लाख करोड़ रुपये था। इसके बाद ग्रुप ने हर महीने शेयरहोल्डर्स के लिए औसतन 56,700 करोड़ रुपये जोड़े हैं। इस दौरान टाटा ग्रुप ने नौ लाख करोड़ रुपये और रिलायंस ने 7.4 लाख करोड़ रुपये जोड़े।

1988 मे की थी शुरुआत
अडानी ग्रुप का कारोबार ट्रेडिंग, नेचुरल गैस, पावर जेनरेशन, सीमेंट, रियल एस्टेट और फाइनेंशियल सर्विसेज तक फैला है। अडानी ने 1988 में अडानी एंटरप्राइजेज की शुरुआत की थी। तब इसका नाम अडानी एक्सपोर्ट्स था। उन्होंने कमोडिटीज ट्रेडिंग बिजनस से शुरुआत की थी। जल्दी ही उन्होंने एक्सपोर्ट-इंपोर्ट के लिए मुंद्रा पोर्ट की स्थापना की। पिछले दो दशक में ग्रुप ने कई बिजनस में कदम रखे। कंपनी ने ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट्स, एक्विजिशंस और जॉइंट वेंचर्स के जरिए अपना कारोबार फैलाया। ग्रुप ने थर्मल और रिन्यूएबल पावर जेनरेशन प्रोजेक्ट्स स्थापित किए, कई बंदरगाहों का अधिग्रहण किया, पूरे देश में पावर ट्रांसमिशन लाइंस का जाल बिछाया और देश की दो सबसे बड़ी सीमेंट कंपनियों का अधिग्रहण किया।

गौतम अडानी बने दुनिया के दूसरे सबसे बड़े रईस, यह मुकाम हासिल करने वाले एशिया के पहले शख्स
अडानी ग्रुप को ऑस्ट्रेलिया में कोल माइनिंग ऑपरेशंस शुरू करने के लिए काफी विरोध का सामना करना पड़ा था। कंपनी ने रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में भारी निवेश का वादा किया है। अडानी ग्रुप तेजी से उभरा है और दुनिया के कई दिग्गज निवेशकों ने इसमें दिलचस्पी दिखाई है। इनमें Warburg Pincus और Total Energies शामिल है। साल 2000 में अडानी ग्रुप ने सिंगापुर की कंपनी विल्मर इंटरनेशनल के साथ मिलकर अडानी विल्मर की स्थापना की। आज यह देश की लीडिंग एफएमसीजी कंपनी है। तीन साल पहले कंपनी ने एयरपोर्ट्स मैनेजमेंट बिजनस में भी कदम रखे।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.