Harsha Engineers IPO: आईपीओ मार्केट में कमाई का शानदार मौका, कुलांचे मार रहा है जीएमपी, क्या आपको सब्सक्राइब करना चाहिए?


हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल (Harsha Engineers International) आज शेयर मार्केट में दस्तक दे रही है। अहमदाबाद की इस कंपनी का 755 करोड़ रुपये का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है। यह इस साल का 20वां आईपीओ है। इस पर 16 सितंबर 2022 तक बोली लगाई जा सकती है। इसमें 455 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू है जबकि प्रमोटर्स ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए 300 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे। कंपनी ने 2.5 करोड़ रुपये के शेयर कर्मचारियों के लिए रखे हैं। उन्हें फाइनल ऑफर प्राइस पर 31 रुपये की छूट मिलेगी। कंपनी ने आईपीओ का प्राइस बैंड ₹314 से ₹330 प्रति इक्विटी शेयर तय किया है।

किसके लिए कितना हिस्सा रिजर्व

इस इश्यू का आधा हिस्से क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए रखा गया है। 35 फीसदी हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स के लिए और 15 फीसदी हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए रखा गया है। इनवेस्टर्स मिनिमम 45 इक्विटी शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं। यानी उन्हें कम से कम 14850 रुपये का निवेश करना होगा। अधिकतम 13 लॉट के लिए बोली लगाई जा सकती है। रिटेल इनवेस्टर्स किसी पब्लिक इश्यू में अधिकतम दो लाख रुपये निवेश कर सकते हैं।

जीएमपी

इनवेस्टर्स के लिए खुलने से पहले ही इस आईपीओ का ग्रे मार्केट में भाव लगातार चढ़ रहा है। नौ सितंबर को इसका ग्रे मार्केट प्रीमियम यानी जीएमपी (GMP) 150 रुपये से था। अगले दिन यानी 10 सितंबर को GMP बढ़कर 200 रुपये हो गया। जानकारों के मुताबिक मंगलवार को यह 225 रुपये पहुंच चुका है। यानी निवेशकों को लिस्टिंग पर अच्छी कमाई हो सकती है। कंपनी के शेयर बीएसई और एनएसई दोनों पर लिस्ट होंगे।

एंकर निवेशकों से जुटाए 225.74 करोड़

-225-74-

आईपीओ से पहले कंपनी ने एंकर निवेशकों से 225.74 करोड़ रुपये जुटाए हैं। कंपनी ने एक्सचेंजेज को बताया कि उसने 330 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से एंकर निवेशकों को 68.40 लाख इक्विटी शेयर अलॉट करने का फैसला किया है। कंपनी के प्रमुख निवेशकों में American Funds Insurance, Goldman Sachs, Pinebridge Global Funds और Abu Dhabi Investment Authority शामिल हैं। इसके अलावा Whiteoak Capital, HDFC Small Cap Fund, SBI MF, Franklin MF, UTI Infrastructure Fund, SBI Life Insurance, Nippon Life India Trustee, ICICI Prudential, DSP Small Cap Fund, और L&T Mutual Fund ने भी कंपनी में एंकर बुक के जरिए निवेश किया है।

कंपनी का बिजनेस

हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल की स्‍थापना राजेंद्र शाह और हरीश रंगवाला ने साल 1986 में की थी। कंपनी के गुजरात में तीन प्लांट हैं। इसके अलावा उसका चीन और रोमानिया में एक-एक प्लांट है। फिलहाल प्रमोटर्स के पास कंपनी की 99.7 फीसदी हिस्सेदारी है। अहमदाबाद की यह कंपनी ऑटोमोटिव, एविएशन और एयरोस्पेस, रेलवे, कंस्ट्रक्शन माइनिंग, रिन्यूएबल एनर्जी, एग्रीकल्चर और अन्य इंडस्ट्रियल सेक्टर्स के लिए तरह-तरह के इंजीनियरिंग प्रॉडक्ट्स बनाती है।

क्या आपको सब्सक्राइब करना चाहिए

जानकारों का कहना है कि प्रीसिशन बियरिंग केज मार्केट में कंपनी का जबर्दस्त मार्केट शेयर है। कंपनी के क्लायंट्स में कई जानी-मानी कंपनियां शामिल हैं। ब्रोकरेज फर्म LKP Securities ने निवेशकों को इसे खरीदने की सलाह दी है। कंपनी की मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटीज स्ट्रैटजिकली पोजीशंड हैं। कंपनी इंटरनेशनल मार्केट्स को अच्छी तरह सर्व करने की स्थिति में है। कंपनी का रेवेन्यू और प्रॉफिट ठीकठाक है। यानी निवेशक इसमें अच्छे रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.