Inflation news: बीजेपी शासित राज्यों में कम महंगाई, दूसरों में ज्यादा… सांसद ने राज्य दर राज्य बताया हाल, पूछा- यह क्या खेल है?


नई दिल्ली: राज्य सभा में आज महंगाई के मुद्दे पर चर्चा हुई। इस दौरान उत्तर प्रदेश से बीजेपी के सदस्य डॉ राधामोहन दास अग्रवाल ने सिलसिलेवार ढंग से महंगाई के आंकड़े गिनाते हुए विपक्ष पर जोरदार हमला किया। उन्होंने आजादी के बाद से कांग्रेस सरकार के दौरान देश में महंगाई दर का पूरा विवरण पेश किया। साथ ही उन्होंने यह सवाल भी उठाया कि बीजेपी शासित राज्यों में महंगाई दर क्यों कम है और कांग्रेस शासित राज्यों में महंगाई दर ज्यादा क्यों है? उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार महंगाई को रोकने के लिए काम कर रहे हैं। आज भारत की विकास दर पूरी दुनिया में सबसे अधिक है और पूरी दुनिया भारत के मॉडल का अध्ययन कर रही है।

अग्रवाल ने कहा कि क्या यह महंगाई पहली बार भारत में आई है। क्या भाजपा और गैर-भाजपा शासित राज्यों में महंगाई एक सी है। क्या भारत का विकास इससे प्रभावित हुआ है और महंगाई को नेता ज्यादा समझदार हैं या इस देश की जनता। देश में आजादी के बाद 75 साल में पहले 27 साल कांग्रेस का शासन था। तब महंगाई की दर 13 से लेकर 28 फीसदी तक थी। फिर बीच में जनता पार्टी की सरकार आई। इस दौरान महंगाई की दर 2.52 फीसदी तक आ गई थी। फिर 15 साल कांग्रेस की सरकार रही। इस दौरान महंगाई 10 फीसदी से 11.35 फीसदी तक बढ़ गई।

Inflation news: ‘नयनसुख’ का हाल बताकर मनोज झा ने सरकार से कहा- इनके नजरिए से देखिए महंगाई है कि नहीं
अटलजी ने काबू में रखा

अग्रवाल ने कहा कि जब अटलजी की सरकार आई तो उन्होंने महंगाई को काबू में रखा। इस दौरान 1999 में महंगाई 4.67 फीसदी, 2000 में 4.01 फीसदी, 2001 में 3.75 प्रतिशत, 2002 में 4.3 प्रतिशत और 2004 में 3.77 फीसदी रह गई। फिर कांग्रेस की सरकार आई तो 2009 में महंगाई 10.88 फीसदी पहुंच गई। 2010 में यह 11.99 फीसदी पहुंच गई। 2011 में 8.9 फीसदी महंगाई थी। 2012 में देश में महंगाई 9.48 फीसदी और 2013 में 10.02 प्रतिशत महंगाई थी। एक अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री की सरकार में इस देश में महंगाई की हालत थी।

उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी जी प्रधानमंत्री बने। उन्होंने महंगाई को काबू में किया। 2014 में 6.77 फीसदी, 2015 में 4.91 फीसदी, 2016 में 4.95 फीसदी, 2017 में 3.3 फीसदी, 2018 में 3.94 फीसदी, 2019 में 3.75 फीसदी और 2021 में पांच परसेंट कर दिया। अग्रवाल ने कहा, ‘मैं बचपन में सुनता था कि जब-जब कांग्रेस आई है कमरतोड़ महंगाई लाई है। यह बात सही है। भाजपा शासित राज्यों में महंगाई कम है जबकि गैर-भाजपा शासित राज्यों में महंगाई बहुत ज्यादा है। भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में महंगाई 6.7 फीसदी है जबकि देश का एवरेज 7.1 फीसदी है। उत्तराखंड में महंगाई की दर 6.05 परसेंट है। मध्य प्रदेश में थोड़ा ज्यादा है। वहां महंगाई 7.16 फीसदी है। बिहार में बीजेपी सरकार में है। वहां महंगाई 5.97 फीसदी महंगाई है।

भारत में मंदी का सवाल ही नहीं… विपक्ष को झाड़ लगा वित्‍त मंत्री सीतारमण ने दिखाया आईना
गैर-बीजेपी राज्यों में ज्यादा है महंगाई
उन्होंने कहा कि गैर-बीजेपी शासित राज्यों में महंगाई ज्यादा है। तेलंगाना में यह 10.05 प्रतिशत, पुड्डुचेरी में 10.09 प्रतिशत, राजस्थान में 10.79 प्रतिशत, ओडिशा में 7.71 प्रतिशत, आंध्र प्रदेश में 8.63 प्रतिशत, लक्षदीप में 9.6 प्रतिशत और महाराष्ट्र में बीजेपी गठबंधन की सरकार आने से पहले 8.52 फीसदी थी। विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में विकास की दर 4.8 फीसदी है। अरब देशों में यह 1.6 फीसदी, पूर्वी एशिया और जापान में 5.5 फीसदी, लेटिन अमेरिका और कैरेबियाई देशों में 5.8 फीसदी, यूके में सात प्रतिशत, अमेरिका में 5.5 प्रतिशत, रूस में -2.8 फीसदी, इटली में 7.3 फीसदी है। भारत में 7.9 फीसदी रहने का अनुमान है जो दुनिया में सबसे अधिक है।

अग्रवाल ने कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में प्रति व्यक्ति आय में काफी उछाल आई है। 2015 में प्रति व्यक्ति आय 86 हजार रुपये थी जो 2016 में बढ़कर 94 हजार रुपये हो गई। 2017 में बढ़कर एक लाख चार हजार रुपये पहुंच गई। 2018 में एक लाख 14 हजार, 2019 में एक लाख 26 हजार, 2020 में एक लाख 35 हजार और आज यह एक लाख 50 हजार रुपये पहुंच चुकी है। मोदी लगातार महंगाई को रोकने के लिए काम कर रहे हैं। पूरी दुनिया भारत के मॉडल का अध्ययन कर रही है।

Price Rise Debate Rajya Sabha: मोदी की मिमिक्री कर कांग्रेस सांसद शक्ति सिंह गोहिल ने महंगाई पर सरकार को घेरा



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.