Insurance Claim: नहीं मिल रहा इंश्योरेंस क्लेम, कहां करें शिकायत जानें यहां


बीमा पॉलिसी धारकों के पास बीमा कंपनी (Insurance company) की शिकायत करने का अधिकार है। ग्राहक बीमा लोकपाल (Insurance Ombudsman) से बीमा कंपनी की शिकायत कर सकते हैं। देश में अलग-अलग स्थानों पर कुल 17 बीमा लोकपाल हैं। ग्राहक जिस जगह रह रहे हैं, उस जगह के बीमा लोकपाल से बीमा कंपनी की शिकायत कर सकते हैं। ग्राहक स्वयं या अपने कानूनी उत्तराधिकारियों अथवा नामित व्यक्ति के माध्यम से यह शिकायत कर सकते हैं।

पहले GRO के पास जाएं

बीमा लोकपाल से शिकायत करने से पहले ग्राहकों को बीमा कंपनी के पास अपनी शिकायत रखनी चाहिए। ग्राहक सबसे पहले अपनी शिकायत बीमा कंपनी के शिकायत निवारण अधिकारी यानी जीआरओ (GRO) के सामने रख सकते हैं। ग्राहक अपनी शिकायत जीआरओ को मेल कर सकते हैं या बीमा कंपनी की निकटतम ब्रांच में जाकर अपनी शिकायत रख सकते हैं। अधिकतर मामलों में देखा गया है वहीं उनकी समस्या का समाधान हो जाता है।

इरडा के पास भी कर सकते हैं शिकायत

बीमा नियामक इरडा (Irdai) के ऑनलाइन पोर्टल IGMS का उपयोग करके भी ग्राहक अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। आपकी शिकायत का समाधान करने के लिए बीमा कंपनी के पास 15 दिन का समय होता है। इस अवधि में आपकी शिकायत का समाधान नहीं होता है या आप समाधान से संतुष्ट नहीं होते हैं, तो आप इरडा के समक्ष अपनी शिकायत रख सकते हैं। आप IRDA के complaints@irdai.gov.in पर ई-मेल पर शिकायत कर सकते हैं। ग्राहक IRDA के टॉल फ्री नंबर 155255 या 1800 4254 732 पर भी शिकायत कर सकते हैं।

बीमा लोकपाल का दरवाजा भी है खुला

अगर आप इरडा के समाधान से भी संतुष्ट नहीं हैं, तो अगले स्तर पर आप बीमा लोकपाल (Insurance Ombudsman) से बीमा कंपनी की शिकायत कर सकते हैं। देश में अलग-अलग स्थानों पर कुल 17 बीमा लोकपाल हैं। ग्राहक जिस जगह रह रहे हैं, उस जगह के बीमा लोकपाल से बीमा कंपनी की शिकायत कर सकते हैं। ग्राहक स्वयं या अपने कानूनी उत्तराधिकारियों अथवा नामित व्यक्ति के माध्यम से यह शिकायत कर सकते हैं।

बीमा लोकपाल में शिकायत करने का तरीका

सबसे पहले आपको अपने क्षेत्र के बीमा लोकपाल कार्यालय में संपर्क करना होगा। आपके इलाके का बीमा लोकपाल कहां बैठता है, इसकी जानकारी आपकी बीमा कंपनी की शाखा से या फिर वेबसाइट से ले सकते हैं। बीमा लोकपाल को ई-मेल या एक पत्र भेजकर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। ई-मेल के मामले में आपको बाद में हार्ड कॉपी भी लोकपाल कार्यालय भेजनी होगी। आपको पत्र में पॉलिसी नंबर और शिकायत की डिटेल्स जैसी सभी जरूरी जानकारियां दर्ज करनी होगी। साथ ही आपको संबंधित दस्तावेजों के साथ इसे लोकपाल कार्यालय में भेजना होगा।

दफ्तर जा कर भी कर सकते हैं शिकायत

यदि आप लोकपाल कार्यालय जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा रहे हैं, तो आपको फॉर्म P-II और फॉर्म P-III भरना होगा। आपने अगर अपने दस्तावेज बीमा लोकपाल को डाक से भेजे हैं, तो भी बीमा लोकपाल आपसे इन फॉर्म्स को भरने के लिए कहेगा। आपकी शिकायत और दस्तावेज जमा होने के बाद बीमा लोकपाल सुनवाई के लिए एक तारीख तय कर देगा। उस तारीख पर शिकायत करने वाले को उपस्थित रहना चाहिए। कुछ विशेष परिस्थितियों में इससे छूट भी मिल सकती है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.