ITR Filing News: लोग मायूस, फूट रहा गुस्‍सा… सरकार ने आखिर क्‍यों नहीं बढ़ाई ITR फाइल करने की डेडलाइन?


नई दिल्‍ली: पिछले कुछ सालों में एक ट्रेंड देखा गया है। सरकार हर बार इनकम टैक्‍स रिटर्न (ITR) भरने की तारीख बढ़ाती आई है। हालांकि, इस बार उसने ऐसा नहीं किया। इससे कई लोगों को मायूसी हुई। माइक्रो ब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर पर गुस्‍सा भी फूटा। अब सरकार ने इसे लेकर अपना रुख पेश किया है। उसने कारण बताया है कि आखिर क्‍यों इस बार इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने की तारीख (ITR Filing Deadline) नहीं बढ़ाई गई। राजस्‍व सचिव तरुण बजाज (Tarun Bajaj) ने बताया है कि इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने के मामले में सरकार स्थितियों को बहाल करना चाहती है। यही कारण है आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख नहीं बढ़ाई गई। इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने की समयसीमा 31 जुलाई थी। हालांकि, अब भी टैक्‍सपेयर्स के पास रिटर्न फाइल करने का मौका है। वे पेनाल्‍टी देकर ऐसा कर सकते हैं।

इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन बढ़ाने की मांग ने बीते कुछ दिनों में जोर पकड़ा था। कई लोगों ने इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की ई-फाइलिंग वेबसाइट में तकनीकी दिक्‍कतों का हवाला दिया था। हालांकि, सरकार ने पहले ही साफ कर दिया था कि डेडलाइन बढ़ाने की उसकी कोई योजना नहीं है। पिछले कुछ समय से वह बार-बार लोगों से समयसीमा के भीतर इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने की अपील कर रही थी। राजस्‍व सचिव तरुण बजाज ने कुछ दिन पहले भी कहा था क‍ि अभी तक अंत‍िम तारीख बढ़ाने पर क‍िसी तरह का व‍िचार नहीं क‍िया गया है। उन्‍होंने यह भी बताया था कि प‍िछले साल अंत‍िम द‍िन 50 लाख र‍िटर्न आए थे। इसे देखते हुए इस बार एक करोड़ आईटीआर के ल‍िए तैयार रहने को कहा गया था।

इंतजार कर रहे लोगों को हाथ लगी मायूसी
यह और बात है कि इतने संकेत मिलने के बावजूद बड़ी संख्‍या में लोग अंतिम दिन का इंतजार देखते रहे। उन्‍हें उम्‍मीद थी कि सरकार इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने की तारीख बढ़ा ही देगी। पिछले कई सालों में ऐसा होता भी रहा था। हालांकि, इस बार लोग हाथ मलते रह गए। जो लोग समय से रिटर्न फाइल नहीं कर पाए हैं, अब वे पेनाल्‍टी देकर ही यह काम कर पाएंगे।

पिछले कुछ सालों में बढ़ती रही है डेडलाइन
पिछले कुछ सालों में जब हर बार आईटीआर फाइल करने की तारीख बढ़ चुकी है तो आखिर इस बार ऐसा क्‍यों नहीं किया गया। इसका कारण तरुण बजाज ने बताया है। उन्‍होंने कहा है कि सरकार फाइलिंग में सामान्य स्थिति बहाल करना चाहती है। यही कारण है कि इनकम टैक्‍स रिटर्न जमा करने की अंतिम तारीख नहीं बढ़ाने का फैसला किया गया है। बजाज ने आधी रात तक रिटर्न फाइल करने की जद्दोजहद करने वाले टैक्‍सपेयर्स और पेशेवरों की जमकर सराहना की है।

क्‍या रहा है पिछले 5 साल का ट्रेंड?

आकलन वर्षसमयसीमाबढ़ाई गई डेट
2021-2231-07-202131-12-2021
2020-2131-07-202010-01-2021
2019-20 31-07-201931-08-2019
2018-1931-07-201831-08-2018
2017-1831-07-201705-08-2017

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आईटीआर जमा करने की अंतिम तारीख यानी रविवार को रात 11 बजे तक 67.97 लाख से ज्‍यादा रिटर्न जमा किए गए। आयकर विभाग ने आईटीआर जमा करने के लिए 31 जुलाई की अंतिम समयसीमा तय की थी। इनमें से 4.50 लाख से ज्‍यादा रात 10 से 11 बजे के बीच जमा किए गए। रविवार को दाखिल आईटीआर के साथ वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आयकर रिटर्न की कुल संख्या 5.73 करोड़ के पार जा चुकी है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.