Pilot Vacancy: Air India के बाद अब इस एयरलाइन ने शुरू की पायलटों की भर्ती, क्या फिर प्रभावित होंगी इंडिगो की उड़ान?


नई दिल्ली: करीब तीन साल के अंतराल के बाद जेट एयरवेज (Jet Airways) एक बार फिर से उड़ान भरने की तैयारी कर रही है। इसके लिए कंपनी ने कर्मचारियों की भर्ती (Recruitment in Jet Airways) पहले ही शुरू कर दी है। अब बारी पायलटों (Pilot) की है। कंपनी ने अब हवाई जहाज उड़ाने के लिए कैप्टन और फस्र्ट आफिसर की वैकेंसी निकाली है। उल्लेखनीय है कि इसी महीने की शुरूआत में टाटा ग्रुप (Tata Group) के एयर इंडिया (Air India) ने पायलटों की भर्ती निकाली थी। इसमें हिस्सा लेने के लिए पायलट ऐसे उमड़े थे कि इंडिगो (Indigo) की सेवा प्रभावित हो गई थी।

जेट एयरवेज की क्या है प्लानिंग
एक बार फिर से उड़ान की तैयारी में जुटी एयरलाइन जेट एयरवेज ने पायलटों की भर्ती की सूचना दी है। ये भर्ती अभियान एयरबस ए320, बोइंग 737एनजी और 737 मैक्स विमानों के लिए है। जेट एयरवेज ने एक ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी। कंपनी ने ट्वीट में कहा, ‘‘हम एयरबस ए320 और बोइंग 737एनजी या मैक्स विमान चलाने वाले पायलटों को आवेदन करने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।’’ इस समय जेट एयरवेज के बेड़े में सिर्फ एक बी737एनजी विमान है।

कंपनी के पुराने कर्मचारियों को बुलाया गया है
बीते दिनों ही जेट एयरवेज ने अपने पूर्व कर्मियों को भी बुलाने की बात कही थी। एयरलाइन के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) संजीव कपूर ने ट्वीट कर बताया था कि हमने जेट के पूर्व कर्मियों को वापस बुलाया है। उल्लेखनीय है कि जेट एयरवेज को नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने 20 मई को हवाई परिचालक का प्रमाणपत्र दे दिया है। सितंबर को समाप्त होने वाली तिमाही में जेट के कॉमर्शियल ऑपरेशन शुरू करने की उम्मीद है।

इसी महीने पहले सप्ताह क्या हुआ था
इसी महीने की दो तारीख को इंडिगो (IndiGo) के यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी थी। उस दिन देश की सबसे बड़ी एयरलाइन की करीब 900 फ्लाइट्स (IndiGo Flights) प्रभावित रहीं थी। कारण था पर्याप्त स्टाफ का नहीं होना। दरअसल, एयरलाइन के कई सारे कर्मचारी सिक लीव डालकर एक साथ छुट्टी पर चले गए। पता चला कि वे टाटा ग्रुप (Tata Group) के स्वामित्व वाली एयर इंडिया (Air India) की खुली भर्ती में इंटरव्यू देने पहुंचे थे। एयर इंडिया ने दो जुलाई को ही देश के कई शहरों में वॉक-इन इंटरव्यू रखा था। ऐसे में इंडिगो का एक बड़ा स्टाफ बीमारी का बहाना बना इंटरव्यू देने जा पहुंचा। कर्मचारियों के अचानक छुट्टी पर जाने से इंडिगो के पसीने छूट गए। साथ ही इंडस्ट्री में खलबली मच गई थी।

पायलट को कितनी मिलती है सैलरी ?
पायलट की जॉब रोमांचक और चैलेंजिंग होती है। इसमें जोखिम भी होते हैं और सैलरी (Salary of Pilot) भी अच्छी मिलती है। भारत में पायलट की सैलरी की बात करें, तो इसमें कई सारे वेरिएबल्स शामिल होते हैं। पायलट की सैलरी कई चीजों पर डिपेंड करती है। लोकेशन, ऑपरेशन, एविएशन मार्केट, फंक्शन, उम्र, अनुभव सहित कई सारे फैक्टर्स पर पायलट की सैलरी निर्भर करती है। भारत में पायलट की औसत सैलरी 1,55,958 रुपये महीने तक है। फ्रेशर पायलट की सैलरी 3,38,309 रुपये सालाना से शुरू होती है। इसके बाद अनुभव के साथ सैलरी बढ़ती जाती है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.