Purvanchal Expressway : देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे, जो जोड़ता है मऊ और गाजीपुर को सीधे राजधानी दिल्ली से


नई दिल्लीः पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे है। 16 नवंबर साल 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उद्घाटन किया था। इसकी आधारशिला जुलाई 2018 में रखी गई थी। ये यूपी के नौ जिलों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अम्बेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर को सीधे राजधानी दिल्ली से जोड़ता है। इसपर सफर करना काफी रोमांचक है। ये 341 किलोमीटर लंबा 6 लेन का एक्सप्रेस-वे है। इसकी हर दिशा में 3 लेन हैं। इसे बाद में 8 लेन तक बढ़ाया जा सकता है। ये सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे है जबकि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे देश का सबसे चैड़ा एक्सप्रेस-वे है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) की बात करें तो इसपर 18 फ्लाईओवर, सात रेलवे ओवर ब्रिज, सात लंबे पुल, 104 छोटे पुल, 13 इंटरचेंज और 271 अंडरपास हैं। इस एक्सप्रेस-वे की बहुत सी ऐसी बातें है, जिनके बारे में शायद आपको पता न हो। आईए हम आपको बताते हैं इस एक्सप्रेस-वे की पूरी कहानी।

4 घंटे में तय होता है 7 घंटे का सफर
इस 341 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे (Expressway) ने सफर को आसान बना दिया है। इसपर लखनऊ (Lucknow) से बिहार के बक्सर के बीच के सफर को 7 घंटे से कम करके करीब 4 घंटे का कर दिया है। वहीं लखनऊ से गाजीपुर तक की दूरी तय करने में पहले जहां 6 घंटे लगते थे अब साढ़े तीन घंटे ही लग रहे हैं।

एक्सप्रेस-वे को बनाने में इतने रुपये हुए खर्च
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) को बनाने में करीब 22 हजार 497 करोड़ रुपयों का खर्चा आया है। अक्टूबर 2018 में इसका काम शुरू हुआ था और तीन साल में इसे पूरा कर लिया गया। इस एक्सप्रेस-वे के बनने से यूपी के कई शहरों को फायदा हुआ है। लोगों को भी अब सफर में आसानी हुई है।

गाड़ियों के लिए निर्धारित है स्पीड
इस एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों के लिए स्पीड निर्धारित की गई है। इससे तेज चलने पर चालान किया जाएगा। इस एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) पर कार को 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से ज्यादा तेज नहीं चलाया जा सकता है। एक्सप्रेस-वे पर कैमरे भी लगाए गए हैं, जिससे वाहनों पर नजर रखी जाती है।

Yamuna Expressway: यमुना एक्सप्रेस-वे का सफर होगा महंगा, टू वीलर और ट्रैक्टर की टोल दर नहीं बढ़ेगी

लखनऊ से गाजीपुर तक भर सकते हैं फर्राटा
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ-सुल्तानपुर रोड पर स्थित लखनऊ जिले के चंदसराय गांव से शुरू होता है और गाजीपुर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर हैदरिया गांव में खत्म होता है। यमुना एक्सप्रेसवे नोएडा को आगरा से जोड़ता है। जबकि लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे राज्य की राजधानी लखनऊ तक जाता है। वहीं पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे यूपी-बिहार सीमा (UP Bihar Border) से लगभग 18 किमी की दूरी पर खत्म होता है।

सरकार द्वारा तैयार किया गया सबसे बड़ा बुनियादी ढांचा
ये एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश सरकार की तैयार की गई सबसे बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजना में से एक है। इसे अविकसित पूर्वांचल क्षेत्र के विकास के वाहक के तौर पर देखा जाता है। इस एक्सप्रेस-वे के बनने से यूपी के शहरों में विकास को गति मिलेगी। इससे यूपी के लोग देश की राजधानी से जुड़ सकेंगे। यूपी के लोगों का देश की राजधानी तक पहुंचना आसान हुआ है। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे का सबसे बड़ा फायदा ये है कि अब लोगों को इसपर सफर करने में समय की काफी बचत हो रही है। इसपर रात में भी आसानी से सफर किया जा सकता है।

Longest NH of India: पाकिस्तान की हमेशा रहती है नजर, जानिए ऐसा क्या खास है देश के सबसे लंबे हाइवे में

जानिए क्या होते हैं एक्सप्रेस वे
हाईवे और एक्सप्रेस-वे में अंतर होता है। एक्सप्रेस-वे भारतीय सड़क नेटवर्क में सबसे उच्च वर्ग की सड़कें होती हैं। ये छह या आठ लेन वाले नियंत्रित-प्रवेश राजमार्ग हैं। इसमें हर लेन की चौड़ाई 2,73 मीटर से 3,9 मीटर तक हो सकती है। ये राजमार्गों और स्थानीय सड़कों से अलग होते हैं। इनमें प्रवेश और निकास छोटी सड़कों के इस्तेमाल से कंट्रोल किया जाता है। मौजूदा वक्त में भारत में लगभग 1455,4 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे परिचालन में हैं। भारत सरकार की इस राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना का उद्देश्य इस एक्सप्रेस-वे नेटवर्क का विस्तार कर एक्सप्रेस-वे में अतिरिक्त 18,636 किलोमीटर जोड़ने का है। अभी इसमें से 7491,1 किलोमीटर के एक्सप्रेस-वे निमार्णाधीन अवस्था में है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के तहत संचालित राष्ट्रीय एक्सप्रेसवे प्राधिकरण एक्सप्रेस-वे के निर्माण और रखरखाव का प्रभार संभालता है। हालांकि अगर देखें तो दुनिया के मुकाबले भारत में एक्सप्रेस-वे का घनत्व बेहद ही कम है। दुनिया के बाकी देशों में एक्सप्रेस-वे का घनत्व काफी ज्यादा है। भारत सरकार की कोशिश आने वाले समय में और ज्यादा एक्सप्रेस-वे के निर्माण की है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.