Single Charger news: मोबाइल, टैबलेट्स, ईयरबड्स, स्पीकर और लैपटॉप के लिए होगा एक ही चार्जर, सरकार ने किया यह जरूरी काम


नई दिल्ली: आने वाले दिनों में आपको मोबाइल, लैपटॉप, ईयरबड्स और स्पीकर के लिए अलग-अलग चार्जर खरीदने की जरूरत नहीं होगी। इन सभी डेवाइसेज के लिए एक सिंगल चार्जर होगा। सरकार ने इसकी संभावना का पता लगाने के लिए एक्सपर्ट्स की कमेटी बनाने का फैसला किया है। यूरोप में इस तरह के चार्जर पर काम चल रहा है। सरकार के इस कदम से बहुत से लोगों को राहत मिलेगी। सिंगल चार्जर के आने से यूजर्स के पैसे की बचत होगी और साथ ही देश में इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट में भी कटौती होगी। केंद्र सरकार के उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने सभी प्रमुख इंडस्ट्री एसोसिएशन और क्षेत्र विशेष के संगठनों की बैठक बुधवार को को बुलाई थी।

उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि सरकार मोबाइल, टैबलेट जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए एक ही चार्जर की संभावना तलाशने को लेकर विशेषज्ञ समूहों का गठन करेगी। ये समूह दो महीनों में विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगे। उद्योगों से जुड़े पक्षों के साथ बैठक के बाद सचिव ने कहा कि भारत शुरुआत में दो प्रकार के चार्जर अपनाने पर विचार कर सकता है। इसमें सी प्रकार का चार्जर भी शामिल है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘यह जटिल मुद्दा है। देश चार्जर के मैन्युफैक्चरिंग की स्थिति में है। हमें अंतिम निर्णय लेने से पहले उद्योग, उपयोगकर्ताओं, विनिर्माताओं समेत सभी के दृष्टिकोण को समझना है।’

Single Charger: यूरोपीय संघ ने लिया बड़ा फैसला, अब हर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए नहीं रखना होगा अलग चार्जर
ई-कचरे पर चिंता
सिंह ने कहा कि प्रत्येक प्रक्ष का अलग नजरिया है और उन मुद्दों पर अलग-अलग विचार के लिए विशेषज्ञ समूहों का गठन किया जाएगा। मोबाइल, फीचर फोन, लैपटॉप और आइपैड तथा पहने जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में इस्तेमाल होने वाले चार्जिंग पोर्ट का अध्ययन करने के लिए अलग-अलग विशेषज्ञ समूह बनाए जाएंगे। सचिव ने कहा कि समूहों को इस महीने अधिसूचित किया जाएगा और वे दो महीने में अपनी सिफारिशें देंगे। उन्होंने कहा कि हालांकि क्षेत्र विशेष के संगठनों और विनिर्माता ई-कचरे को लेकर चिंता पर सहमति जताई है। लेकिन उन्होंने इस मामले में और चर्चा की बात कही है।

Common Charger: भारत में भी होगा सभी डिवाइसेज के लिए कॉमन चार्जर, सरकार की तरफ से हो रहा है यह प्रयास
इससे पहले इंडस्ट्री के दिग्गज कारोबारियों को लिखे गए पत्र में रोहित कुमार सिंह ने कहा था कि अब समय आ गया कि हमें केवल 2 दो तरह के चार्जिंग पॉइंट्स को अपनाने के लिए आधारभूत ढांचा बनाने की संभावनाओं की खोज करनी चाहिए। इसमें एक चार्जर छोटे और मध्यम आकार के डिवाइसेज जैसे स्मार्टफोन, लैपटॉप, टैबलेट, ईयरबड्स को चार्ज करने के लिए होगा, जबकि दूसरे चार्जर से फीचर या बेसिक फोन चार्ज होंगे। यूरोप ने इस तरह की पहल की है। यूरोपीय देशों के बीच बनी सहमति के मुताबिक सितंबर से नवंबर 2024 तक यूरोपियन यूनियन में छोटे और मध्यम आकार के आकार डिवाइसेज जैसे मोबाइलफोन, लैपटॉप, टैबलेट और कैमरा को चार्ज करने के लिए यूएसबी टाइप-सी पोर्ट कॉमन चार्जिंग पोर्ट बन जाएगा।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.