Vamana Treatment : वमन प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए नए उपकरण को मिला पेटेंट, जानिए कैसे करता है काम


नई दिल्ली : केंद्र सरकार का आयुष मंत्रालय आयुर्वेदिक चिकित्सा (Ayurvedic Medicine) में नई तकनीक और प्रयोगों को बढ़ावा दे रहा है। इसी कड़ी में वमन प्रक्रिया या चिकित्सीय इमिसिस को आसान बनाने के लिए एक स्वचालित प्रणाली व उपकरण विकसित किया गया है। इस चिकित्सा में उल्टी लाने वाली औषधियों का प्रयोग करके आमाशय की शुद्धि की जाती है। उल्टी करवाकर शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकाला जाता है। इस चिकित्सा को सरल और सुविधाजनक बनाने के लिए इस उपकरण का पेटेंट प्रदान किया गया है।

सरकार ने दिया पेटेंट
भारतीय चिकित्सा प्रणाली के लिए राष्ट्रीय आयोग (NCISM) के आयुर्वेद बोर्ड अध्यक्ष डॉ. बी श्रीनिवास प्रसाद और उनकी टीम को पेटेंट प्रदान किया गया है।भारत सरकार द्वारा उन्नत स्वचालित प्रणाली या उपकरण के विकास के लिए यह पेटेंट प्रदान किया गया है। आयुष विभाग के मुताबिक आयुर्वेद में पंचकर्म प्रमुख उपचार पद्धति है। पंचकर्म को रोकथाम, प्रबंधन, इलाज के साथ-साथ कायाकल्प के उद्देश्य से पहचाना जाता है।

पंचकर्म की हैं 5 प्रक्रियाएं

पंचकर्म की वमन, विरेचन (चिकित्सीय शुद्धिकरण), बस्ती (चिकित्सीय एनीमा), नस्य (नाक मार्ग के माध्यम से चिकित्सा और रक्तमोक्षण (रक्त रोग चिकित्सा) पांच प्रक्रियाएं हैं। वमन यानी एक चिकित्सीय प्रक्रिया जो उल्टी के जरिए अशुद्धियों या दोषों को बाहर निकालती है। रोगी और पंचकर्म विशेषज्ञ सलाहकार दोनों के लिए प्रक्रिया कठिन है। इसके अलावा उल्टी को हाइजीनिक तरीके से हैंडल करना एक बड़ी चुनौती है।
लाइलाज बीमारी वाले रोगी की सम्मान के साथ मौत! जानिए क्या है एंड ऑफ लाइफ केयर
जानिए क्या काम करता है उपकरण

अब वर्तमान पेटेंट उपकरण ‘उन्नत स्वचालित उपकरण या चिकित्सीय प्रणाली’ को कठिन वमन प्रक्रिया को आराम से संचालित करने के लिए विकसित किया गया है। यह तकनीक प्रक्रिया के दौरान रोगियों के महत्वपूर्ण डाटा की निगरानी के लिए मॉनिटर से लैस है। उल्टी को स्वच्छ तरीके से और जैव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन नीति के अनुसार संभालने का प्रावधान है। यह आपातकालीन किट भी प्रदान करता है, जो प्रक्रिया की जटिलताओं का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक है। प्रक्रिया का आकलन करने के लिए आवश्यक क्लिनिकल पैरामीटर भी स्वचालित हैं। कुल मिलाकर यह तकनीक वमन प्रक्रिया को आराम से संचालित करने का संपूर्ण समाधान है। इस उत्पाद को केएलई आयुरवर्ल्ड के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम आयुर्टेक इनक्यूबेशन सेंटर और कर्नाटक के बेलगावी में केएलई इंजीनियरिंग कॉलेज द्वारा विकसित किया गया है।



Source link

MERA SHARE BAZAAR
नमस्कार दोस्तों मेरा शेयर बाजार हिंदी भाषा में शेयर बाजार की जानकारी देने वाला ब्लॉग है। नए लोग इस बाजार में आना चाहते हैं उन्हें सही से मार्गदर्शन देने का प्रयास करती है। इसके अलावा फाइनेंसियल प्लानिंग, पर्सनल फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, पब्लिक प्रोविडेंड फण्ड (PPF), म्यूच्यूअल फंड्स, इन्शुरन्स, शेयर बाजार सम्बंधित खास न्यूज़ भी समय -समय पर देते रहते हैं। धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.